झंडू आयुर्वेदिक जूस

आयुर्वेदिक जूस में जड़ी-बूटियाँ और कई तरह के तत्व होते हैं जो हर घूंट में प्रकृति की अच्छाई प्रदान करते हैं। वे आपके स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक फायदेमंद हैं और आपके शरीर को सभी आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करेंगे। लेकिन झंडूकेयर के आयुर्वेदिक जूस दूसरों की तुलना में अलग हैं।

इन जूसों का प्रयोगशाला में परीक्षण किया जाता है, इनमें जिलेटिन नहीं होता है और ये 100% शाकाहारी होते हैं। लेकिन हर जूस के अपने फायदे होते हैं।

उनमें से कुछ आपके दिल के स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं, और अन्य आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ावा दे सकते हैं। आपको ऐसे आयुर्वेदिक जूस भी मिलेंगे जो आपको अवसाद, सूजन और चिंता से राहत दिला सकते हैं। यदि आप जानना चाहते हैं कि ये जूस क्या हैं, तो इस लेख को पढ़ें।

झंडूकेयर से 7 विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक जूस

आपको  झंडूकेयर से कई अलग-अलग और स्वास्थ्यवर्धक आयुर्वेदिक जूस मिलेंगे। ये जूस आपकी सेहत के लिए अच्छे हैं. तो, ये रस क्या हैं? चलो पता करते हैं!

1. आँवला जूस

Amla juice in a glass

Source: Image by Anasegota on Pixabay

आंवला आयुर्वेद के क्षेत्र में सबसे मूल्यवान सामग्री है। आंवले से बना जूस सभी महत्वपूर्ण पोषक तत्वों का पावरहाउस है। जूस उच्च गुणवत्ता का है क्योंकि यह पके और ताजे आंवले से बना है। झंडूकेयर का आंवला जूस 100% शुद्ध और अपाश्चुरीकृत है।

इसके अलावा, जूस पूरी तरह से कोल्ड-प्रेस्ड होता है जो सभी आवश्यक पोषक तत्वों को बरकरार रखता है। सबसे बड़े अमला जूस बेनिफिट्स इन हिंदी यह है कि इसमें उच्च स्तर का विटामिन सी होता है। आंवला जूस पीने से प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत हो सकती है।

इसमें कैल्शियम और आयरन जैसे अन्य पोषक तत्व भी होते हैं, जो शरीर की सभी हानिकारक विषाक्त पदार्थों को खत्म करने की क्षमता को बढ़ा सकते हैं।

यह जूस शरीर की सफेद कोशिकाओं की गिनती भी बढ़ा सकता है। यह शरीर की सभी प्रकार की एलर्जी से लड़ने की क्षमता को बेहतर बनाने में मदद करता है।

आंवले के रस में जीवाणुरोधी गुण भी होते हैं जो शरीर को सभी हानिकारक वायरस और बैक्टीरिया से बचाते हैं। इस रस में मौजूद एंटीवायरल एजेंट खांसी, सर्दी, फ्लू और अन्य श्वसन समस्याओं को कम कर सकते हैं। झंडू आंवला जूस को पानी में मिलाकर पिएं और रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन करें।

2. एलोवेरा जूस

एलोवेरा का उपयोग लोग विभिन्न त्वचा स्थितियों और जलन के इलाज के लिए करते हैं। यह त्वचा को आराम और नमी भी दे सकता है। लेकिन एलोवेरा जूस पीने से आपके आंतरिक अंग ठीक हो जाएंगे। लेकिन सबसे बड़े एलोवेरा जूस बेनिफिट्स इन हिंदी यह है कि यह प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देता है।

एलोवेरा की पत्तियों को पानी या अन्य तरल पदार्थ, जैसे दही, नारियल का दूध या दूध के साथ मिलाकर रस बनाया जाता है।

आप घर पर ही एलोवेरा जूस बना सकते हैं. लेकिन झंडूकेयर से खरीदारी करना एक अच्छा विचार होगा क्योंकि यह 100 प्रतिशत एलोवेरा की पत्तियों से बना है।

आपको जूस में कोई अतिरिक्त स्वाद या रंग भी नहीं मिलेगा। जूस का प्रयोगशाला में परीक्षण भी किया गया है और इसमें जिलेटिन नहीं है। इस जूस को पीने से स्वस्थ पाचन को बढ़ावा मिलेगा। यह आपके बालों और त्वचा को भी अच्छी स्थिति में रखेगा।

3. आंवला एलोवेरा जूस

आंवला एलोवेरा जूस प्मस्तिष्क और हृदय जैसे महत्वपूर्ण अंगों के कार्यों को बढ़ा सकता है। यह जूस आपकी आंखों की रोशनी भी मजबूत करेगा और तनाव भी कम करेगा। अगर आपको अमला एलोवेरा जूस इन हिंदी में जानना है तो जानिए की यह पीड़ित लोगों की मदद कर सकता है। बस आंवला एलोवेरा जूस में मिश्री और नींबू का रस मिलाएं और पिएं। 

इस जूस में विटामिन सी भी होता है, जो इसे मधुमेह वाले लोगों के लिए आदर्श बनाता है। यदि आप करेले का जूस और आंवला एलोवेरा जूस का एक साथ सेवन करते हैं, तो यह अग्न्याशय ग्रंथि की गतिविधि को उत्तेजित कर सकता है और इंसुलिन उत्पादन को सक्षम कर सकता है। इसके अलावा जूस का सेवन करने से शरीर में रक्त ग्लूकोज अवशोषण भी बढ़ेगा।

यदि आप आंवला एलोवेरा जूस पीते हैं तो आप दर्दनाक सांस लेने और जिद्दी हिचकी को भी दूर कर सकते हैं। बस इसमें थोड़ी सी काली मिर्च और शहद मिला लें। आंवला एलोवेरा जूस को वर्मीफ्यूज के रूप में उपयोग करने से आपको कृमि संक्रमण से लड़ने में मदद मिल सकती है। रस को शहद के साथ पीने से आंत के सभी कीड़े नष्ट हो जाते हैं।

Also read:

4. करेला जूस

करेला एक स्वास्थ्यवर्धक सब्जी है जिसका सेवन बहुत से लोग करते हैं। लेकिन करेले का जूस पीना आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद रहेगा। आपको करेला जूस बेनिफिट्स इन हिंदी कई मिलेंगे जैसे की, पाचन में सुधार। ऐसा इसलिए क्योंकि जूस में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं।

अगर आप "करेला-जामुन जूस" पीते हैं तो आपको कब्ज से तुरंत राहत मिल सकती है क्योंकि जामुन में फाइबर होता है। इसके अलावा, झंडूकेयर का करेला जूस बच्चों और वयस्कों दोनों के लिए आदर्श है। यह रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है आर स्तर और वजन घटाने में भी सहायता करता है।

5. व्हीटग्रास जूस 

green juice

Source: Image by kkolosov on Pixabay

झंडूकेयर के व्हीटग्रास जूस में 17 अमीनो एसिड, एंजाइम, प्रोटीन, विटामिन और क्लोरोफिल होते हैं जो पूर्ण पोषण देंगे। आपको विटामिन सी और विटामिन के मिलेंगे जो प्रतिकूल और प्रतिकूल बैक्टीरिया के विकास को रोक सकते हैं।

ये दोनों विटामिन कंजेशन को भी दूर कर सकते हैं और रक्त शर्करा की समस्याओं को भी कम कर सकते हैं। जूस में जीवाणुरोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो आपकी प्रतिरक्षा और स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं।

आपको व्हीटग्रास जूस बेनिफिट्स इन हिंदी कई मिलेंगे, जैसे की:

  • आंतों को साफ करता है
  • दाँत को सड़न से बचाता है
  • आंखों की जलन से राहत दिलाता है
  • स्वस्थ त्वचा को बढ़ावा देता है
  • विषाक्त पदार्थों को खत्म करता है
  • उम्र बढ़ने को धीमा करता है

Also read:

व्हीटग्रास जूस अच्छे स्वास्थ्य का पावरहाउस है। आप इस रस के 30 मिलीलीटर को 30 मिलीलीटर पानी में घोलकर इसे अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। आपको इस मिश्रण को भोजन से पहले दिन में दो बार पीना चाहिए।

6. अनार का जूस

अनार के जूस का सेवन कई लोग व्यापक रूप से करते हैं। यह जूस आपके स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक फायदेमंद है और यह ताजे अनार से बनाया गया है। अनार स्वास्थ्यप्रद फलों में से एक है, और यह आपके आहार में शामिल होने लायक है।

जूस में विटामिन C जैसे एंटीऑक्सीडेंट और फोलेट और विटामिन K जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व भी होते हैं। सबसे बड़े  अनार जूस बेनिफिट्स इन हिंदी यह है कि यह कई बीमारियों का इलाज कर सकता है। 

ऐसे कारणों से, यह समग्र उपचार शस्त्रागार का एक हिस्सा रहा है। अनार का रस सूजन को कम कर सकता है, रक्तचाप को कम कर सकता है और कैंसर से लड़ सकता है।

7. लौकी का जूस

a woman drinking green juice

Source: Image by freestocks-photos on Pixabay

लौकी का जूस उन लोगों के लिए एक बेहतरीन विकल्प है जो अपने शरीर को डिटॉक्सिफाई करना चाहते हैं। लौकी का जूस पीने से आपको वजन कम करने और पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाए रखने में मदद मिल सकती है। जूस में विटामिन सी, विटामिन बी6 और पोटैशियम की मात्रा भी होती है, जो आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है।

एक और बेहतरीन लौकी जूस बेनिफिट्स इन हिंदी यह हैं कि यह रक्त परिसंचरण को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। यह फैटी एसिड और कोलेस्ट्रॉल को कम करके हृदय में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है।

लौकी का जूस पीने से जोड़ों की सूजन भी कम होगी क्योंकि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। यह गठिया के दर्द के कारण जोड़ों के आसपास होने वाली कठोरता को कम करके जोड़ों की गतिशीलता में सुधार करेगा।

समापन शब्द

आयुर्वेदिक जूस आपके स्वास्थ्य के लिए सबसे स्वास्थ्यवर्धक जूसों में से एक साबित हुआ है। इनमें कई पोषक तत्व होते हैं जो मानव शरीर के लिए आवश्यक होते हैं। आप  झंडूकेयर से उचित मूल्य पर आयुर्वेदिक जूस खरीद सकते हैं।

कंपनी उच्च गुणवत्ता और शुद्ध आयुर्वेदिक जूस उपलब्ध कराती है। ये जूस आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई कर सकते हैं, पाचन में सुधार कर सकते हैं, सूजन को कम कर सकते हैं और आपको कब्ज से राहत दिला सकते हैं।

FAQs

1. लौकी का जूस कैसे आपकी मदद करेगा?

लौकी का जूस आपके जोड़ों में सूजन को कम कर सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि जूस में सूजन-रोधी गुण होते हैं और यह आपको गठिया के दर्द से राहत देगा।

2. सर्दी-खांसी में आंवले का जूस कैसे पियें?

जब आप खांसी और सर्दी से पीड़ित हों, तो पानी के साथ आंवले का रस पीने से निश्चित रूप से मदद मिल सकती है। आपको इस मिश्रण का सेवन खाली पेट करना चाहिए।

3. व्हीटग्रास जूस पीने के क्या फायदे हैं?

व्हीटग्रास जूस आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को खत्म कर सकता है और दांतों की सड़न को रोक सकता है। यह सूजन को भी कम कर सकता है, आपकी आंतों को साफ कर सकता है और आपकी त्वचा की स्थिति में सुधार कर सकता है।

4. करेले का जूस कौन पी सकता है?

करेले के जूस का सेवन बच्चे और वयस्क दोनों कर सकते हैं। यह उन लोगों के लिए भी अच्छा है जो पाचन और कब्ज से पीड़ित हैं।


Avatar

Zandu Ayurvedic Team

Zandu Ayurvedic Team has a panel of over 10 BAMS (Ayurvedacharya), boasting a collective experience of over 50 years. With a deep-rooted understanding of Ayurveda, they are committed to sharing their expertise & knowledge through our blogs.
We use all kinds of Ayurvedic references in our content. Please use the contact form for any editorial queries.

Leave a comment

All comments are moderated before being published